नई दिल्ली (एएनआई)। देश में आज स्वतंत्रता संग्राम सेनानी विनायक दामोदर सावरकर की जयंती मनाई जा रही है। इस अवसर पर उन्हें देश भर से श्रद्धांजलि दी जा रही है।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्विटर पर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए वीर सावरकर को एक महान स्वतंत्रता सेनानी और एक प्रखर राष्ट्रवादी बताया। उन्होंने ट्वीट किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक ट्वीट के जरिए कहा कि आजादी की लड़ाई के महान सेनानी और प्रखर राष्ट्रभक्त वीर सावरकर को उनकी जयंती पर कोटि-कोटि नमन।

गृह मंत्री बोले कालापानी की सजा भी नहीं सावरकर को डिगा पाई

पीएम नरेंद्र मोदी के अलावा केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने भी ट्वीट कर उन्हें नमन किया। अमित शाह ने कहा कि कालापानी की सजा में अंग्रेजों की असंख्य क्रूर यातनाएं भी वीर सावरकर जी के भारत की स्वाधीनता के संकल्प को डिगा नहीं पाई। मातृभूमि के लिए उनकी जीवन तपस्या, त्याग व समर्पण देश की आने वाली पीढ़ियों के लिए एक धरोहर है। आजादी के ऐसे महानायक &वीर सावरकर&य की जयंती पर उनके चरणों में नमन।

भाजपा नेताओं ने भी हिंदू विचारक सावरकर को श्रद्धांजलि दी

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने भी ट्वीट कर कहा कि महान स्वतंत्रता सेनानी, प्रखर राष्ट्रवादी नेता व लेखक विनायक दामोदर वीर सावरकर जी की जयंती पर उन्हें कोटि कोटि नमन। उनका संपूर्ण जीवन स्वराज्य की प्राप्ति के लिए संघर्ष करते हुए ही बीता। वहीं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और पार्टी की महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष माधव भंडारी सहित अन्य भाजपा नेताओं ने भी हिंदू विचारक सावरकर को श्रद्धांजलि दी।

वकील, लेखक और हिंदुत्व दर्शन के प्रमुख सूत्रधार भी थे सावरकर

28 मई 1883 को नासिक में जन्मे सावरकर स्वतंत्रता सेनानी, राजनीतिज्ञ, वकील, लेखक और हिंदुत्व दर्शन के प्रमुख सूत्रधार थे। स्वतंत्रता संग्राम के प्रमुख स्तंभ स्वातंत्र्य वीर सावरकर भारत की अखंडता व संस्कृति के प्रखर समर्थक और जातिवाद के धुर विरोधी थे। उन्होंने अपने अविरल संघर्ष, ओजस्वी वाणी और कालजयी विचारों से जन-जन को स्वाधीनता आंदोलन से जुड़ने के लिए प्रेरित किया। उनका संकल्प व साहस अद्भुत था।