विनेश फोगाट को WFI ने अस्थायी रूप से किया सस्पेंड, ओलंपिक में जमकर की अनुशासनहीनता
विनेश फोगाट को WFI ने अस्थायी रूप से किया सस्पेंड, ओलंपिक में जमकर की अनुशासनहीनता

यह भी पढ़ें

टोक्यो (पीटीआई)। कोविड-19 के खतरे को देखते हुए शुक्रवार को होने वाले ओलंपिक खेलों के उद्घाटन समारोह में 44 से अधिक भारतीय एथलीट हिस्सा नहीं लेंगे। जिन एथलीटों की अगले दिन प्रतियोगिताएं हैं, उन्हें पहले ही इस आयोजन को छोड़ने के लिए कहा गया है। छह अधिकारियों के साथ मार्च पास्ट के दौरान कुल भारतीय उपस्थिति 50 हो जाएगी। भारतीय ओलंपिक संघ के महासचिव राजीव मेहता ने कहा, “हम ऐसी स्थिति नहीं बनाना चाहेंगे जहां हमारे एथलीटों के संक्रमित होने का खतरा हो। इसलिए 50 के भीतर उद्घाटन समारोह में भाग लेने वाले एथलीटों और अधिकारियों की संख्या को सीमित करने का निर्णय लिया गया है।”

गोल्ड मेडल जीतने के बाद नीरज को करना पड़ा था इस परेशानी का सामना, इसलिए कटवाए थे लंबे बाल
गोल्ड मेडल जीतने के बाद नीरज को करना पड़ा था इस परेशानी का सामना, इसलिए कटवाए थे लंबे बाल

यह भी पढ़ें

कुल 125 एथलीट ले रहे हिस्सा
यह फैसला आज सुबह यहां शेफ डी मिशन और कोचों के बीच हुई बैठक के बाद लिया गया। बता दें इस ओलंपिक में भारत की तरफ से 125 एथलीट हिस्सा ले रहे हैं, वहीं कुल संख्या 228 है, जिसमें अधिकारी, कोच, अन्य सहायक कर्मचारी शामिल हैं, जो COVID-19 के मद्देनजर एक वैकल्पिक एथलीट हैं। डिप्टी शेफ डे मिशन प्रेम वर्मा ने कहा, “समारोह में छह अधिकारियों (हर देश से) को अनुमति दी जाती है, लेकिन एथलीटों पर कोई सीमा नहीं है। हालांकि, हमने अगले दिन होने वाले एथलीटों को समारोह को छोड़कर अपने खेल पर ध्यान केंद्रित करने की सलाह दी है।”

मनप्रीत और मैरीकाॅम होंगे ध्वजवाहक
भारतीय टीम के पास टोक्यो में छह कोच और एक फिजियोथेरेपिस्ट के अलावा आठ राइफल, पांच पिस्टल और दो स्कीट शूटर हैं। उद्घाटन समारोह के अगले दिन मुक्केबाजों, तीरंदाजों और पुरुष और महिला हॉकी टीमों का भी मुकाबला होना है। भारत ने उद्घाटन समारोह के लिए पुरुष हॉकी कप्तान मनप्रीत सिंह और छह बार की विश्व चैंपियन महिला मुक्केबाज एम सी मैरी कॉम को ध्वजवाहक के रूप में नामित किया है। जहां मैरी कॉम अगले दिन प्रतिस्पर्धा करने के लिए निर्धारित नहीं हैं, वहीं मनप्रीत शनिवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले पूल ए मैच के लिए टीम की अगुवाई करेंगी। वर्मा ने एथलीटों और अधिकारियों के बारे में कहा, जो हाल ही में जापानी शहर में उतरे हैं, “जो लोग क्वारंटीन कर रहे हैं उन्हें भी अनुमति नहीं है।”