कानपुर (इंटरनेट डेस्क)। Shardiya Navratri 2021 : शारदीय नवरात्रि इस साल नवरात्रि 7 अक्टूबर दिन गुरुवार से शुरू हो रहे हैं। नवरात्रि के नाै दिन माता रानी के 9 रूपों की पूजा की जाती है। इन 9 दिनों में लोग व्रत और पूजा करते हैं। शारदीय नवरात्रि के व्रत के दौरान संयम रखने की अत्यधिक आवश्यकता है। कहा जाता है कि नियमों के विपरीत करने पर देवी मां दुर्गा रुष्ठ जाती हैं। वहीं शास्त्रों नियमों का पालन करने पर माता रानी की विशेष कृपा मिलती है। इसके अलावा मातारानी अपने भक्त की हर मनोकामना पूरी करती हैं।

लहसुन-प्याज और मांस का सेवन न करें
नवरात्रि में तामसिक भोजन नहीं करना चाहिए। तामसिक भोजन में लहसुन, प्याज, मांस और शराब शामिल हैं। नवरात्रि के दिनों में इन्हें घर में नहीं लाना चाहिए।
व्रत में नमक का सेवन न करें
नवरात्रि के उपवास में अनाज और नमक का सेवन नहीं करना चाहिए। हालांकि कई लोग व्रत में सेंधा नमक का सेवन करते हैं।
चमड़े का प्रयोग न करें
नवरात्रि में चमड़े से बनी किसी भी चीज का प्रयोग न करें।
अगरबत्ती का प्रयोग न करें
पूजा करते समय धूपबत्ती का प्रयोग करें। अगरबत्ती का प्रयोग न करें क्योंकि अगरबत्ती बांस और केमिकल से बनती है।
खंडित मूर्ति का प्रयोग न करें
मां दुर्गा की पूजा करते समय उनकी पुरानी या खंडित मूर्ति का प्रयोग न करें।
घर खाली छोड़कर नहीं जाएं
अगर घर में अखंड ज्योति जलाई गई है तो इन दिनों घर खाली छोड़कर नहीं जाएं।
मां दुर्गा की आरती जरूर करें
पूजन के बाद मां दुर्गा की आरती करें। पूजा में जो भी कमी या गलती होती है उसे आरती से पूरा किया जाता है।
दिन में सोने से बचें
नवरात्रि के दौरान व्रत करने वालों को दिन में नहीं सोना चाहिए।
दाढ़ी, मूंछें और बाल नहीं काटें
नवरात्रि का व्रत करने वालों को नाखून, दाढ़ी, मूंछें और बाल नहीं काटने चाहिए।
आरती एक बार में ही करें
पूजा करते समय जब आरती की जाए तो खंड-खंड में न करें और एक बार में ही करें।
साफ कपड़ें धारण करें
व्रत करने वाले व्यक्ति को साफ कपड़े पहनने चाहिए।
झूठ बोलने से बचें
नवरात्रि के दिनों में कलह करने व झूठ बोलने से बचना चाहिए।
ब्रह्मचर्य का पालन करें
नवरात्रि के दिनों में काम भावना पर नियंत्रण कर महिलाओं और पुरुषों को ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए।

डिसक्लेमर
‘इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।’
Shardiya Navratri 2021 : नवरात्रि में किस दिन पहनें काैन सा रंग, यहां पढ़ें नाै रंगों का महत्व

Shardiya Navratri 2021 : मां दुर्गा का आगमन पालकी पर और प्रस्थान हाथी पर होगा, जानें कलश स्थापना की विधि और शुभ समय
Shardiya Navratri 2021 : 7 अक्टूबर से नवरात्रि का शुभारंभ, जानें इतिहास-महत्व और किस दिन होगा देवी के किस रूप का पूजन

Shardiya Navratri 2021: कलश स्थापना व नाै दिन की पूजा में क्या चीजें हैं जरूरी, ये है नवरात्रि की पूजन सामग्री