नई दिल्ली (एएनआई)। कोरोना वायरस के बढ़ते कहर के बीच कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक बार फिर केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया है। उन्होंने पीआर और अनावश्यक परियोजनाओं पर सरकार के खर्च पर निशाना साधते हुए केंद्र से कोविड-19 टीकों, ऑक्सीजन और अन्य स्वास्थ्य सेवाओं पर ध्यान केंद्रित करने की अपील की। इसके साथ ही यह भी चेतावनी दी कि आने वाले दिनों में संकट और भी बदतर हो जाएगा। कांग्रेस नेता ने ट्वीट किया कि सद्भाव से केंद्र सरकार से अपील है कि पीआर व अनावश्यक प्रॉजेक्ट पर खर्च करने की बजाए वैक्सीन, ऑक्सीजन व अन्य स्वास्थ्य सेवाओं पर ध्यान दें। आने वाले दिनों में ये संकट और भी गहरायेगा। ऐसे में इससे निबटने के लिए देश को तैयार करना होगा। वर्तमान दुर्दशा असहनीय है।

आईसीयू बिस्तरों की कमी में से हो रही माैतें

राहुल गांधी ने इसके पहले नरेंद्र मोदी सरकार को ऑक्सीजन और अस्पताल के बिस्तरों कमी को कोरोना वायरस से होने वाली माैतों के लिए जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने ट्वीट किया कि कोरोना ऑक्सीजन के स्तर में गिरावट का कारण बन सकता है, लेकिन अधिकांश माैतें ऑक्सीजनशॉर्टेज और आईसीयू बिस्तरों की कमी में हो रही है। वर्तमान में देश एक भयावह दूसरी कोविड-19 लहर देख रहा है। वहीं दो दिन पहले कहा कहा था कि भारत में संकट केवल कोरोना नहीं, केंद्र सरकार की जन विरोधी नीतियां हैं। झूठे उत्सव व खोखले भाषण नहीं, देश को समाधान दो!

पिछले 24 घंटों में 3,46,786 नए मामले

कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी इस वैश्विक महामारी की चपेट में आ चुके हैं। वह इन दिनों क्वाॅरंटीन हैं। देश में पिछले 24 घंटों में 3,46,786 नए मामले और 2,624 मौतें हुईं, जो महामारी की शुरुआत के बाद से देश में अब तक की सबसे बड़ी सिंगल डे स्पाइक है। देश में कुल सकारात्मक मामले अब 1,66,10,481 है और अब तक 1,89,544 लोगों की माैत हो चुकी है।