नई दिल्ली (एएनआई)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अगले सप्ताह जम्मू-कश्मीर के नेताओं के साथ सर्वदलीय बैठक की अध्यक्षता कर सकते हैं। सूत्रों ने इस बात की जानकारी दी है। यह खबर तब आई है जब जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा के राष्ट्रीय राजधानी में गृह मंत्रालय (एमएचए) में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के साथ शुक्रवार को बैठकी है। आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि मनोज सिन्हा और अमित शाह के बीच बैठक का एजेंडा विकास संबंधी मुद्दे और केंद्र शासित प्रदेश की मौजूदा स्थिति थी।
जम्मू और कश्मीर पुनर्गठन बिल, 2019 पेश किया
अगस्त 2019 में केंद्र ने जम्मू और कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को निरस्त कर दिया और तत्कालीन राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू और कश्मीर और लद्दाख में विभाजित कर दिया। अमित शाह ने अगस्त, 2019 को राज्यसभा में जम्मू और कश्मीर पुनर्गठन बिल, 2019 पेश किया।अधिनियम में प्रावधान है कि केंद्र शासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर की विधानसभा में सीटों की संख्या 107 से बढ़ाकर 114 की जाएगी और निर्वाचन क्षेत्रों का परिसीमन चुनाव आयोग द्वारा निर्धारित किया जाएगा।