कानपुर (इंटरनेट डेस्क)। वेस्ट बंगाल में हुए विधानसभा चुनाव के परिणाम आ गए हैं। यहां जिस सीट पर सबसे ज्यादा चर्चा हो रही थी, वो नंदीग्राम की थी। यहां ममता बनर्जी और सुवेंदु के बीच जोरदार टक्कर हुई। रुझानों में कभी ममता तो कभी सुवेंदु आगे रहे। मगर अंत में जीत सुवेंदु अधिकारी ने हासिल की। सुवेंदु ने ममता को 1956 वोटों से हराया। सुवेंदु को जहां 109673 वोट मिले वहीं ममता को 107937 वोट मिले।

ममता बनाम सुवेंदु की लड़ाई
नंदीग्राम पश्चिम बंगाल की सबसे चर्चित विधानसभा सीट है। 2016 में, यह निर्वाचन क्षेत्र अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस द्वारा जीता गया था। पश्चिम बंगाल राज्य के पुरो मेदिनीपुर जिले के अंतर्गत आने वाले नंदीग्राम पर इस बार कड़ी टक्कर देखने को मिल रही है। एक तरफ जहां ममता बनर्जी हैं वहीं उनके सामने टीएमसी छोड़ कर गए बीजेपी गए उम्मीदवार सुवेंदु अधिकारी होंगे।

सुवेंदु के नाम रही है ये सीट
2016 के पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों में, नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र में मतदाताओं का कुल प्रतिशत 87 प्रतिशत दर्ज किया गया था। 2016 में, अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस के अधिकारी सुवेंदु ने 81230 वोटों के अंतर से भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के अब्दुल कबीर सेख को हराकर सीट जीती थी।

लोस चुनाव में टीएमसी का झंडा था बुलंद
नंदीग्राम विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र तमलुक लोक सभा निर्वाचन क्षेत्र के अंतर्गत आता है। 2019 के लोकसभा चुनावों में, अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार दिब्येंदु अधिकारी ने भारतीय जनता पार्टी के सिद्धार्थशंकर नस्कर को हराकर तमलुक लोकसभा (मप्र) सीट से 190165 मतों से जीत हासिल की।