कानपुर (इंटरनेट डेस्क)। आईपीएल 2021 की शुरुआत होने में ज्यादा दिन नहीं बचे। कुछ दिन बाद आईपीएल का पारा चढ़ जाएगा। आपके चहेते क्रिकेटर्स मैदान में होंगे और शुरु हो जाएगाी ट्राॅफी की जंग। करीब दो महीनों तक चलने वाले इस टूर्नामेंट में कितने रिकाॅर्ड बनेंगे और कितने टूटेंगे, यह तो वक्त बताएगा। मगर आईपीएल इतिहास के पांच रिकाॅर्ड ऐसे हैं जिन्हें तोड़ने वाला का आज तक इंतजार हो रहा है।

एक सीजन में सबसे ज्यादा रन
किसी एक सीजन में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकाॅर्ड आज भी विराट कोहली के नाम है। आरसीबी की तरफ से खेलते हुए विराट ने साल 2016 में 973 रन बनाए थे। उस आईपीएल में कोहली ने 4 शतक भी बनाए और सात हाॅफसेंचुरी ठोंकी। पूरे सीजन में विराट के बल्ले से 38 छक्के निकले जबकि 83 चौके भी लगाए।

सबसे बड़ी पारी
वेस्टइंडीज के क्रिस गेल के नाम आईपीएल के एक मैच में सबसे बड़ी पारी खेलने का रिकॉर्ड दर्ज है। गेल ने साल 2013 में आरसीबी की तरफ से बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में पुणे वारियर्स के खिलाफ आतिशी पारी खेली थी। तब गेल ने 66 गेंदों पर 175 रन बना डाले थे। आईपीएल इतिहास में कोई भी बल्लेबाज ऐसी पारी नहीं खेल पाया और इस रिकॉर्ड को तोड़ पाना बहुत मुश्किल है।

एक मैच में सबसे कम रन
आईपीएल 2008 में कोलकता नाईट राइडर्स और मुंबई इंडियंस की टीमों ने मिलकर 135 रन बनाए थे। आईपीएल के पिछले सालों के इतिहास में दोनों टीमों द्वारा बनाया गया यह सबसे कम स्कोर है। इस मैच में मुंबई ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी की थी। इस दौरान कोलकता महज 67 रनों पर आल-आउट हुई। वहीं 68 रनों का आसान लक्ष्य मुंबई ने 5.3 ओवरों में 2 विकेट खोकर हासिल किया था।

सबसे अच्छी गेंदबाजी
आईपीएल में सबसे अच्छी गेंदबाजी का रिकॉर्ड पाकिस्तानी तेज गेंदबाज सोहेल तनवीर के नाम है। तनवीर ने यह रिकॉर्ड साल 2008 में बनाया था। राजस्थान रॉयल्स के सोहेल तनवीर ने चेन्नई सुपर किंग्स के अगेंस्ट यह कारनामा किया था। इस दौरान उन्होंने 4 ओवरों में 14 रन देकर 6 विकेट हासिल किए थे। यह आईपीएल इतिहास का बेस्ट बॉलिंग फिगर है।

एक ओवर में 37 रन
एक ओवर में 36 रन तो बनते देखे हैं मगर एक आईपीएल मैच ऐसा हुआ था जिसमें एक ओवर में 37 रन बने थे। यह मुकाबला 2011 में खेला गया था। टीमें थी आरसीबी और कोच्चि टस्कर्स। तब क्रिस गेल ने सात बाॅल के ओवर में 4 छक्के और 3 चौके लगाए थे। यह शर्मनाक रिकाॅर्ड केरल के गेंदबाज प्रसांत परमेश्वरन के नाम दर्ज हुआ था। इन्हीं की गेंदबाजी के खिलाफ गेल ने यह कारनामा किया था।