कानपुर (इंटरनेट डेस्क)। International Yoga Day 2021: कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने न केवल लाखों लोगों को संक्रमित किया, बल्कि अनगिनत लोगों के जीवन को भी प्रभावित किया। बड़ी संख्या में जो लोग इस घातक वायरस से बचने में कामयाब रहे, वे अभी भी अपने स्वास्थ्य को फिर से हासिल करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं क्योंकि इसने अंगों, विशेष रूप से ऊपरी श्वसन प्रणाली को बुरी तरह प्रभावित किया है। अभी भी अधिकांश लोगों में सांस आदि फूलने की दिक्कत है। इसलिए अब वायरस से लड़ने के लिए फेफड़ों की मांसपेशियों को मजबूत करना और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाना महत्वपूर्ण हो गया है। इसके लिए योग से बेहतर और क्या हो सकता है। यह शारीरिक गतिविधि का प्राचीन भारतीय रूप है जिसके विभिन्न स्वास्थ्य लाभ हैं। 5000 से अधिक वर्षों से, पूरे देश में योग का अभ्यास किया जा रहा है और अब इसने दुनिया भर में अपने पंख फैला लिए हैं।

बालासन
यह रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए सबसे सरल और सर्वोत्तम आसनों में से एक है। यह पीठ के निचले हिस्से से तनाव मुक्त करके मांसपेशियों को आराम देता है। मन को फिर से जीवंत करता है, तनाव को कम करता है और मूड को अच्छा बनाता है।

अनुवित्सासन
यह अधिवृक्क ग्रंथियों को डिटॉक्सीफाई करने और बेहतर सांस लेने के लिए श्वसन तंत्र को खोलने में मदद करता है। सर्दी के मौसम में नाक से गहरी सांस लेने से फेफड़ों को फिट रहने में मदद मिलती है।

प्राणायाम
गहरी सांस लेने से तनाव और चिंता को कम करने में मदद मिलती है। इससे प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा मिलता है। वहीं जिन लोगों को गैस्ट्रिक, सिरदर्द, अस्थमा और माइग्रेन की समस्या है, उनके लिए यह आसन दवा का काम करता है।

धनुरासन
यह शरीर में रक्त के प्रवाह में सुधार करता है, प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाता है। साथ ही, यह अच्छे पाचन में मदद करता है क्योंकि यह पाचन तंत्र पर ठीक से काम करने के लिए दबाव डालता है।

भुजंगासन
इसे कोबरा मुद्रा के रूप में भी जाना जाता है। यह फेफड़ों को खोलता है और रीढ़ को मजबूत करता है। यह व्यायाम लीवर पर दबाव से राहत देता है और प्रतिरक्षा प्रणाली पर भार को कम करता है। साथ ही यह पाचन क्रिया को भी बेहतर करता है।

Disclaimer: शोध और कई अध्ययनों के आधार पर लेख पूरी तरह से जानकारीपूर्ण है। हालांकि inextlive.com स्वतंत्र रूप से इस रिपोर्ट की पुष्टि नहीं करता है। उपर्युक्त सुझावों में से किसी का पालन करने से पहले डॉक्टर से परामर्श करना उचित है।

International Yoga Day 2021: इसलिए 21 जून को मनाया जाता है अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस, जानें महत्व और थीम

International Yoga Day 2021: इसलिए 21 जून को मनाया जाता है अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस, जानें महत्व और थीम