कानपुर (इंटरनेट डेस्क)। भारत बनाम श्रीलंका के बीच तीन मैचों की टी-20 सीरीज का तीसरा और आखिरी मुकाबला गुरुवार को खेला गया। इस मैच में भारत ने पहले खेलते हुए सिर्फ 81 रन बनाए। जवाब में श्रीलंका ने 15वें ओवर में ही लक्ष्य हासिल कर लिया और सात विकेट से मैच अपने नाम किया। श्रीलंका ने दूसरे टी-20 में भी भारत को मात दी थी। इसी के साथ तीन मैचों की यह सीरीज 2-1 से जीतकर इतिहास रच दिया। बता दें भारत के खिलाफ टी-20 में श्रीलंका की यह पहली सीरीज जीत है। दोनों टीमों ने आठ बार सीरीज खेली जिसमें अब जाकर मेजबान टीम को जीत नसीब हुई।

कुलदीप यादव रहे हाई स्कोरर
तीसरे मैच में भारत की हार की बड़ी वजह खराब बल्लेबाजी रही। कप्तान शिखर धवन ने टाॅस जीतकर पहले बैटिंग का फैसला लिया मगर वह अपनी पहली ही गेंद पर कैच आउट हो गए। इसके बाद रितुराज गायकवाड़ ने 14 रनों का योगदान दिया मगर ज्यादा लंबे वक्त तक बैटिंग नहीं कर सके। देवदत्त पड्डीकल भी 9 रन बनाकर चलते बने। संजू सैमसन से काफी उम्मीदें थी मगर वह भी बिना खाता खोले पवेलियन लौट गए। इसके बाद नितीश राणा आए, वो भी सिर्फ 6 रन बना पाए। यह तो अच्छा हुआ कि भुवनेश्वर कुमार और कुलदीप यादव ने थोड़े रन बना दिए, नहीं तो भारत टी-20 में सबसे कम स्कोर का रिकाॅर्ड बना लेता। भारत की तरफ से कुलदीप यादव 23 रन बनाकर हाई स्कोरर रहे।

श्रीलंका ने आसानी से दर्ज की जीत
सिर्फ 82 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी श्रीलंकाई टीम के लिए मैच जीतना मुश्किल नहीं था। ओपनर अविष्का फर्नांडो और मिनोद भनुका ने अच्छी शुरुआत दिलाई। मगर मेजबान टीम को पहला झटका 23 रन पर लगा। भारत की तरफ से सबसे सफल गेंदबाज राहुल चाहर रहे, जिन्होंने 4 ओवर के कोटे में 15 रन देकर 3 विकेट लिए हालांकि वह जीत में योगदान नहीं दे पाए और श्रीलंका ने 15वें ओवर में ही 3 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया।