लखनऊ (एएनआई)। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कोरोना वायरस का कहर बढ़ता ही जा रहा है। हाल ही में किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) में बड़ी संख्या में डाॅक्टर्स कोरोना की चपेट में आने से हड़कंप मचा है। केजीएमयू में फूटे कोरोना बम के बाद से प्रशासन ने विभिन्न विभागों की स्क्रीनिंग करने का निर्णय लिया है। केजीएमयू, लखनऊ के प्रवक्ता सुधीर सिंह ने कहा कि 7 अप्रैल को, 30 से अधिक डॉक्टरों के पाॅजिटिव आने के बाद से स्क्रीनिंग की जा रही है। वहीं जिन लोगों की रिपोर्ट पाॅजिटिव आई है उनका फिर से परीक्षण किया जाएगा ताकि क्राॅस वैरीफाई हो सके। केजीएमयू प्रशासन संक्रमण के प्रसार को नियंत्रित करने के बारे में बहुत गंभीर है।

कुलपति सहित कई डाॅक्टर पाॅजिटिव आए

केजीएमयू के प्रवक्ता ने आगे कहा कि 6 अप्रैल को लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में कोरोना वायरस बम फूटा है। यहां कुलपति लेफ्टिनेंट जनरल (retd) विपिन पुरी कई डाॅक्टर पाॅजिटिव पाए गए हैं। केजीएमयू के कुलपति वैक्सीन के दोनों शॉट्स प्राप्त करने के बाद भी कोविड-19 की चपेट में आए हैं। उन्होंने दूसरा डोज अभी बीते 25 मार्च को ही लगवाया था। पिछले अगस्त के बाद यह दूसरी बार है जब कुलपति वायरस से संक्रमित हुए हैं।

यूपी के इन शहरों में लगा नाइट कर्फ्यू

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ, कानपुर और वाराणसी में गुरुवार रात से ही कर्फ्यू लगा दिया गया है। प्रयागराज में भी कर्फ्यू लगा गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, उत्तर प्रदेश में 31,987 सक्रिय मामले हैं। अब तक 6,04,979 रिकवरी और 8,964 मौतें हुई हैं। भारत में पिछले 24 घंटे में कोविड-19 के 1,31,968 नए मामले आने के बाद कुल पॉजिटिव मामलों की संख्या 1,30,60,542 हुई। 780 नई मौतों के बाद कुल मौतों की संख्या 1,67,642 हो गई है।