इंटर के 325 परीक्षार्थियों ने छोड़ी कंपार्टमेंट-इंप्रूवमेंट एग्जाम
इंटर के 325 परीक्षार्थियों ने छोड़ी कंपार्टमेंट-इंप्रूवमेंट एग्जाम

यह भी पढ़ें

नई दिल्ली (एएनआई)। कोरोना संकट के बीच केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने स्कूलों द्वारा आयोजित इंटरनल एसेसमेंट के बेस पर रद की गई कक्षा 10 बोर्ड परीक्षा के लिए अंकों के मूल्यांकन नीति की घोषणा कर दी है। इसके साथ ही सीबीएसई ने 10वीं बोर्ड के रिजल्ट को लेकर आ रही अटकलों पर विराम लगा दिया है। सीबीएसई कक्षा 10 के परिणामों की घोषणा अस्थायी रूप से जून के तीसरे सप्ताह तक कर सकता है। ऐसे में उम्मीद है कि 20 जून तक 10वीं का रिजल्ट जारी हो जाएगा।

चार सेंटर्स पर सीबीएसई के कंपार्टमेंट एग्जाम
चार सेंटर्स पर सीबीएसई के कंपार्टमेंट एग्जाम

यह भी पढ़ें

बोर्ड परीक्षा रद कर दी गई थी
बता दें कि बीते 14 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ एक हाईलेवल की बैठक के बाद शिक्षा मंत्रालय ने घोषणा की कि 10 वीं कक्षा के लिए बोर्ड परीक्षा रद कर दी गई है और देश भर में बढ़ रहे कोविड-19 मामलों के कारण 12 वीं की परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया है। हाल ही में केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल ने कहा था कि 10 वीं कक्षा के छात्रों को इंटरनल एसेसमेंट के आधार पर प्रमोट किया जाना है।
इंटरनल एसेसमेंट के आधार पर प्रमोट
यदि छात्र आंतरिक मूल्यांकन से संतुष्ट नहीं है तो स्थिति सामान्य होने पर एक बार परीक्षा दे सकता है। 21,50,761 स्टूडेंट दसवीं कक्षा की सीबीएसई बोर्ड परीक्षा में बैठने के लिए रजिस्टर्ड हुए थे जबकि 14,30,243 छात्र कक्षा 12 वीं की परीक्षा देने वाले थे। सीबीएसई सामान्य परिस्थितियों में, 15 फरवरी से अप्रैल के पहले सप्ताह तक दसवीं और बारहवीं के लिए बोर्ड परीक्षा आयोजित करता है।