मुंबई (एएनआई)। सीबीआई मामले से संबंधित विभिन्न स्थानों की जांच के लिए छापे मारने की कार्रवाई करेगी। देशमुख ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। इससे पहले बाॅम्बे हाईकोर्ट ने सीबीआई को उनके खिलाफ 15 दिन के भीतर जांच शुरू करने के आदेश दिए थे। सीबीआई को पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह के आरोपाें की जांच करनी है, जो उन्होंने तत्कालीन गृहमंत्री पर लगाए थे।

सीएम को पत्र लिखकर लगाए थे गृह मंत्री आरोप

कोर्ट ने सीबीआई को एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया था यदि मंत्री के खिलाफ कोई संज्ञेय अपराध मिले। बाॅम्बे हाईकोर्ट के 5 अप्रैल के आदेश के खिलाफ देशमुख ने सुप्रीम कोर्ट में स्पेशल लीव पीटिशन (एसएलपी) दाखिल किया था। परमबीर ने सीएम उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर देशमुख पर पुलिस अधिकारी सचिन वाजे से हर महीने 100 करोड़ रुपये वसूल कर लाने का आरोप लगाया था।

मनसुख हीरेन की मौत से गहराया संदेह

सचिन वाजे क्राइम इंटेलीजेंस यूनिट (सीआईयू) में असिस्टेंट पुलिस इंस्पेक्टर था। मनसुख हीरेन की मौत मामले में नाम आने पर बाद में उसे मुंबई पुलिस हेडक्वाॅर्टर स्थित सिटिजन फेसिलेशन सेंटर में स्थानांतरित कर दिया गया था। हीरेन उस वाहन का मालिक था जो एंटीलिया के बाहर खड़ी थी। उस वाहन में विस्फोटक भरे हुए थे। हीरेन थाणे में 5 मार्च को मृत पाए गए थे।