सचिन तेंदुलकर सहित कई बड़ी हस्तियों का 'पेंडोरा पेपर्स' लीक में नाम
सचिन तेंदुलकर सहित कई बड़ी हस्तियों का ‘पेंडोरा पेपर्स’ लीक में नाम

यह भी पढ़ें

नई दिल्ली (एएनआई)। आज के दिन, 20 साल पहले सचिन तेंदुलकर वनडे क्रिकेट में 10,000 का आंकड़ा हासिल करने वाले पहले बल्लेबाज बने थे। तेंदुलकर ने इंदौर के नेहरू स्टेडियम में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ यह उपलब्धि हासिल की थी। तीसरे वनडे में, ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीता और पहले गेंदबाजी करने का विकल्प चुना। इसके बाद सचिन ने बैटिंग करते हुए इतिहास रच दिया। तेंदुलकर ने अपने पार्टनर वीवीएस लक्ष्मण के साथ भारत को जबरदस्त शुरुआत दी।

इंजमाम ने 'हार्ट अटैक' की खबरों को किया खारिज, सचिन ने की थी शीघ्र स्वस्थ होने की कामना
इंजमाम ने ‘हार्ट अटैक’ की खबरों को किया खारिज, सचिन ने की थी शीघ्र स्वस्थ होने की कामना

यह भी पढ़ें

भारत का वो ऐतिहासिक मैच
दोनों भारतीय ओपनर्स ने मिलकर 199 रनों की साझेदारी की, जिसमें सचिन ने अपना शतक पूरा किया और इस तरह मास्टर ब्लास्टर ने 10,000 एकदिवसीय रन बनाए। तेंदुलकर ने 50 ओवर के प्रारूप में अपनी 259 वीं पारी में उपलब्धि हासिल की। मास्टर ब्लास्टर ने 139 रनों की पारी खेली, क्योंकि भारत ने निर्धारित पचास ओवरों में कुल 299/8 दर्ज किए। इसके बाद भारतीय गेंदबाजों ने खूब कहर ढाया और अजीत अगरकर और हरभजन सिंह ने तीन-तीन विकेट लेकर ऑस्ट्रेलिया को 181 रनों पर समेट दिया और भारत को 118 रनों से जीत दिलाई।

तेंदुलकर के नाम ढेरो रिकाॅर्ड
तेंदुलकर ने सभी फाॅर्मेट में कुल 34,357 रन बनाए, जो श्रीलंका के पूर्व क्रिकेटर कुमार संगकारा की तुलना में 6,000 रन अधिक है। अब तक के सबसे महान बल्लेबाजों में से एक के रूप में, तेंदुलकर के पास अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे अधिक रन बनाने का रिकॉर्ड है, जिन्होंने एकदिवसीय मैचों में 18,426 रन और टेस्ट मैचों में 15,921 रन बनाए हैं।

हाल ही में कोरोना वायरस से संक्रमित
मास्टर ब्लास्टर ने वनडे में 51 शतकों के साथ अपने करियर का अंत किया, जबकि उन्होंने खेल के सबसे लंबे फाॅर्मेट में 49 शतक बनाए। तेंदुलकर ने 16 नवंबर, 2013 को टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लिया और उन्होंने अपने 200 वें टेस्ट मैच के बाद अपने करियर को विराम दिया। बता दें तेंदुलकर इस समय कोरोना वायरस से पीड़ित हैं। इस बात की जानकारी उन्होंने सोशल मीडिया पर दी थी।