नई दिल्ली (एएनआई)। कोरोना वायरस संकट के दाैरान ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे देश की राजधानी दिल्ली के कई अस्पतालों को केंद्र सरकार की ओर से कल बुधवार को बड़ी राहत मिली है। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के लिए ऑक्सीजन का कोटा बढ़ाने का फैसला लिया गया गया है। सरकार के इस फैसले का स्वागत करते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल कि हम दिल्ली के ऑक्सीजन कोटे को बढ़ाने के लिए केंद्र के शुक्रगुजार हैं, लेकिन हमें और अधिक चाहिए। न्यूज एजेंसी एएनआई के ट्वीट् के मुताबिक सीएम केजरीवाल का कहना है कि केंद्र सरकार ऑक्सीजन का कोटा और कौन सी कंपनी ये कोटा देगी ये तय करती है। दिल्ली में ऑक्सीजन नहीं बनती है, सारी ऑक्सीजन बाहर के राज्यों से आती है। ऑक्सीजन की कंपनियां जिन राज्यों में हैं, उनमें से कुछ राज्य सरकारों ने उन कंपनियों से दिल्ली के कोटे की ऑक्सीजन भेजनी रोक दी है।

ऑक्सीजन को दिल्ली पहुंचने में कुछ दिन लग जाएंगे

सीएम केजरीवाल ने बताया कि कुछ राज्यों ने कहा कि दिल्ली का कोटा भी हम इस्तेमाल करेंगे, दिल्ली के ट्रक नहीं जाने देंगे। मैं केंद्र सरकार और दिल्ली हाईकोर्ट का शुक्रिया करना चाहता हूं, पिछले दो-तीन दिन में उन्होंने हमारी बहुत मदद की है जिसकी वजह से अब ऑक्सीजन दिल्ली पहुंचने लगी है। हमारा ऑक्सीजन का जो कोटा बढ़ा है, उसमें काफी ऑक्सीजन ओडिशा से आनी है। बढ़े हुए कोटे की ऑक्सीजन को दिल्ली पहुंचने में कुछ दिन लग जाएंगे, हम कोशिश कर रहे हैं कि हवाईजहाज से ऑक्सीजन लाई जा सके।

यह अब तक का हाईएस्ट सिंगल डे स्पाइक दर्ज हुआ

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ये बहुत बड़ी आपदा है, अगर इसमें हम हरियाणा, पंजाब, तमिलनाडु, गुजरात, पश्चिम बंगाल में बंट गए तो भारत नहीं बचेगा, इस वक्त हमें एक-दूसरे की मदद करनी है। अगर दिल्ली में जरूरत से ज्यादा ऑक्सीजन होगी तो हम दूसरे राज्यों को देंगे। बता दें कि देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर घातक होती जा रही है। भारत में पिछले 24 घंटों में 3,14,835 नए मामले सामने आए हैं। वहीं 2,104 लोगों की माैत हुई है। यह अब तक का हाईएस्ट सिंगल डे स्पाइक दर्ज हुआ है।