मुंबई (पीटीआई)। कारोबार के दौरान 53,126.73 अंकों का अब तक का सर्वोच्च स्तर छूने के बाद 30 शेयरों वाला बीएसई सेंसेक्स 189.45 अंक या 0.36 प्रतिशत फिसल कर 52,735.59 अंक के स्तर पर आकर बंद हुआ। इसी तरह एनएसई निफ्टी भी 45.65 अंक या 0.29 प्रतिशत नीचे 15,814.70 अंक तक आ गया। सोमवार को कारोबार के दौरान निफ्टी 15,915.65 अंक के अब तक के सर्वोच्च स्तर पर पहुंच गया था।

सेंसेक्स पैक में डाॅ. रेड्डीज टाॅप गेनर

सेंसेक्स पैक में टाइटन टाॅप लूजर रहा। इसके शेयरों में 1 प्रतिशत से ज्यादा की गिरावट रही। इसके बाद बिकवाली के दबाव में टूट कर नुकसान के साथ बंद होने वाले अन्य शेयरों में टीसीएस, एचसीएलटेक, रिलायंस इंडस्ट्रीज, अल्ट्राटेक सीमेंट तथा भारती एयरटेल शामिल रहे। वहीं दूसरी ओर बिकवाली के दबाव से बेअसर डाॅ. रेड्डीज, टाटा स्टील, टेक महिंद्रा, सनफार्मा तथा एचयूएल के शेयरों में खरीदारी जारी रही तथा इसके शेयर लाभ के साथ बंद हुए।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेल 75.26 डाॅलर प्रति बैरल

एशिया में शंघाई, हांगकांग, सियोल तथा टोक्यो के शेयर में कारोबार भारी नुकसान के साथ बंद हुए। इसी तरह यूरोपीय शेयर बाजारों में कारोबार के दौरान मिड सेशन सौदे नुकसान के साथ किए गए। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेल ब्रेंट क्रूड का सौदा 0.16 प्रतिशत नीचे 75.26 डाॅलर प्रति बैरल के भाव पर किया गया।

ग्लोबल स्तर पर गिरावट का रहा असर

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज में रिसर्च हेड विनोद नायर ने कहा कि रिकाॅर्ड स्तर पर पहुंचने के बाद घरेलू शेयर बाजार निगेटिव जोन में पहुंच गए। दुनिया भर में कोविड मामलों में एकाएक बढ़ोतरी की वजह से ग्लोबल शेयर बाजाराें में गिरावट रही। इससे घरेलू शेयर बाजार भी अछूता नहीं रह सका तथा नुकसान के साथ बंद हुए।

क्लोजिंग सेशन में भारी उतार-चढ़ाव रहा

नायर ने कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र यानी पीएसयू बैंकों के निजीकरण की प्रक्रिया में तेजी की उम्मीद दिख रही है। ऐसे में पीएसयू बैंकों के शेयर फोकस में हैं। वित्तमंत्री की घोषणा के वक्त बाजार क्लोजिंग सेशन में भारी उतार-चढ़ाव भरा रहा। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कोविड की मार झेल रही अर्थव्यवस्था में तेजी के लिए राहत पैकेज की घाेषणा की।