नई दिल्ली (एएनआई)। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने देश में फैली कोविड-19 महामारी की स्थिति को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक दूसरा पत्र लिखा है। राहुल गांधी ने अपने पत्र में कहा, मैं एक बार फिर आपको लिखने के लिए मजबूर हूं क्योंकि कोविड सूनामी हमारे देश को तबाह करने के लिए जारी है। ऐसे अभूतपूर्व संकट में, भारत के लोग आपकी सबसे बड़ी प्राथमिकता होना चाहिए। मैं आपसे आग्रह करता हूं कि देश के जरूरतमंद लोगों की पीड़ा दूर करने के लिए आपके वश में जो कुछ भी है आप वह सब करें। उन्होंने कहा कि दुनिया के हर छह लोगों में से एक व्यक्ति भारतीय है। इस महामारी ने यह दर्शाया है कि हमारा आकार, आनुवांशिक विविधता और जटिलता से भारत में इस वायरस के लिए बहुत ही अनुकूल माहौल मिलता है। इसलिए वह अपने स्वरूप को बदलकर और अधिक खतरनाक रूप में सामने आ रहा है।

कांग्रेस नेता सरकार को सुझाए ये चार बिंदु

कांग्रेस नेता ने कहा कि यह सिर्फ एक शुरुआत हो सकती है। इसलिए इस दाैरान उन्होंने सरकार को वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए चार बिंदु सुझाए। इन बिंदुओं में शामिल है कि इस वायरस एवं इसके विभिन्न स्वरूपों के बारे में वैज्ञानिक तरीके से पता लगाया जाए। सभी नए म्यूटेशन के खिलाफ सभी टीकों की प्रभावशीलता का आकलन करें। तेजी से टीकाकरण करें। बाकी दुनिया को हमारे निष्कर्षों के बारे में अवगत कराया जाए।

आज यह बीमारी विस्फोटक रूप से बढ़ रही

राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि आपकी सरकार के पास स्पष्ट और सुसंगत कोविड और टीकाकरण की रणनीति की कमी है। इसके साथ ही समय से पहले सरकार ने उस समय इस पर विजय की घोषणा कर दी थी जब यह देश में फैल रहा था। आज यह बीमारी विस्फोटक रूप से बढ़ रही है। यह वर्तमान में हमारे सभी सिस्टमों पर भारी पड़ने की कगार पर है। सरकार की विफलता से देश एक बार फिर से राष्ट्रीय स्तर के लॉकडाउन के मुहाने पर खड़ा हो गया है।