नई दिल्ली (एएनआई)। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक बार फिर गुरुवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर निशाना साधा। राहुल गांधी ने ट्वीट किया है कि मेरा मानना है कि आरएसएस व सम्बंधित संगठन को संघ परिवार कहना सही नहीं क्योंकि परिवार में महिलाएं होती हैं। बुजुर्गों के लिए सम्मान होता, करुणा और स्नेह की भावना होती है- जो कि आरएसएस में नहीं है। राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश में केरल के ननों के कथित उत्पीड़न के बाद ‘संघ परिवार’ को निशाने पर लिया है। उनका कहना है कि यह घटना ‘संघ परिवार’ द्वारा चलाए जा रहे दुष्प्रचार का परिणाम है।

राहुल बोले सुधारात्मक कदम उठाने का समय

कांग्रेस नेता राहुल का कहना है कि हमारे लिए एक राष्ट्र के रूप में आत्मसमर्पण करने और इस तरह की विभाजनकारी ताकतों को हराने के लिए सुधारात्मक कदम उठाने का समय है। वहीं बहुजन समाज पार्टी (बसपा) प्रमुख मायावती ने भी इस घटना की निंदा की है और कहा कि जघन्य अपराध, विशेष रूप से महिलाओं की सुरक्षा से संबंधित हैं, उत्तर प्रदेश में नहीं रुक रहे हैं। यह ‘गंभीर चिंता का विषय’ है।

केरल के मुख्यमंत्री गृहमंत्री को लिया पत्र

बुधवार को केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर झांसी के बजरंग दल के सदस्यों और पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने का आग्रह किया, जो कथित तौर पर चार नन का उत्पीड़न कर रहे थे, जब वे नई दिल्ली से ओडिशा के राउरकेला तक ट्रेन से यात्रा कर रहे थीं। विजयन ने कहा कि ननों को झांसी पुलिस ने जबरदस्ती ट्रेन से उतार दिया था।