नई दिल्ली (एएनआई)। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सोमवार को राष्ट्रीय राजधानी में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की। सूत्रों ने कहा कि त्रिवेंद्र सिंह रावत ने राजनीतिक मुद्दों के साथ ही उत्तराखंड में भूमि स्वामित्व कानूनों जैसे कई मुद्दों पर शीर्ष नेताओं के साथ चर्चा की। इससे पहले 31 जुलाई को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राज्य के लिए महत्वपूर्ण मुद्दों पर एक उच्च स्तरीय समिति गठित करने के निर्देश जारी किए थे। सख्त भूमि कानून उन मुद्दों में से एक हैं जिन पर विचार किया जा रहा है।

एक महत्वपूर्ण संगठनात्मक भूमिका पर हो विचार

हालांकि त्रिवेंद्र सिंह रावत इसे महज शिष्टाचार भेंट बता रहे हैं। वहीं सूत्रों के मुताबिक त्रिवेंद्र सिंह रावत को भारतीय जनता पार्टी में एक महत्वपूर्ण संगठनात्मक भूमिका दी जा सकती है। उत्तराखंड में 2022 में विधानसभा चुनाव होने हैं और त्रिवेंद्र सिंह रावत को पार्टी के महासचिव या उपाध्यक्ष की भूमिका में समायोजित किए जाने की संभावना है।

उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी भी दी जा सकती है

इसके अलावा यह भी कहा जा रहा है कि उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को जल्द ही चुनावों के लिए निर्धारित किसी भी राज्य के लिए पार्टी के राज्य प्रभारी के पद की पेशकश की जा सकती है। अगले साल की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर उन्हें बतौर चुनाव प्रभारी उत्तर प्रदेश की जिम्मेदारी भी दी जा सकती है।