चंडीगढ़ (एएनआई / पीटीआई)। नवजोत सिंह सिद्धू ने शुक्रवार को पंजाब कांग्रेस के नए प्रमुख के रूप में पदभार संभाला। पंजाब कांग्रेस के नए कार्यकारी अध्यक्षों संगत सिंह गिलजियान, सुखविंदर सिंह डैनी, पवन गोयल और कुलजीत सिंह नागरा ने भी यहां पार्टी के राज्य मुख्यालय में बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ताओं और समर्थकों की मौजूदगी में कार्यभार संभाला। इस दाैरान मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह भी उपस्थित थे। इसके अलावा कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पंजाब मामलों के एआईसीसी प्रभारी हरीश रावत, पूर्व मुख्यमंत्री राजिंदर कौर भट्टल, वरिष्ठ नेता प्रताप सिंह बाजवा और लाल सिंह सहित कई अन्य लोग भी मौजूद थे।

सिद्धू बोले पंजाब जीतेगा, पंजाबी जीतेंगे

अपने संबोधन में नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा, पंजाब के सभी कांग्रेस कार्यकर्ता आज पार्टी की प्रदेश इकाई के प्रमुख बन गए हैं। एक नेता और एक कार्यकर्ता में कोई अंतर नहीं है। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता पार्टी की आत्मा हैं, जिससे ताकत मिलती है। सुनील जाखड़ से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष का पद संभालने वाले क्रिकेटर से नेता बने इस क्रिकेटर ने कहा कि उनमें जूनियर्स के लिए प्यार और बड़ों का सम्मान होगा। उन्होंने कहा, पंजाब जीतेगा, पंजाबी जीतेंगे।

अमरिंदर सिंह और सिद्धू में चर्चा हुई

प्रदेश कांग्रेस की कमान संभालने से पहले नवजोत सिंह सिद्धू ने यहां पंजाब भवन में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से मुलाकात की। मुख्यमंत्री और अमृतसर (पूर्व) के विधायक कांग्रेस मुख्यालय में पार्टी की राज्य इकाई का कार्यभार संभालने से पहले एक दूसरे के बगल में बैठे देखे गए। कांग्रेस के एक नेता के अनुसार, इससे पहले पंजाब भवन में नवजोत सिंह सिद्धू और कैप्टन अमरिंदर सिंह के बीच हुई मुलाकात ‘सौहार्दपूर्ण’ थी। इस दाैरान कई और नेता भी माैजूद थे।

चाय के लिए निमंत्रण के साथ जवाब दिया

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी की नई टीम बनाने के लिए पंजाब कांग्रेस भवन में राज्य के सभी विधायकों, सांसदों और पार्टी के वरिष्ठ पदाधिकारियों को चाय के लिए आमंत्रित किया था। पहला प्रस्ताव सिद्धू की तरफ से आया था जिन्होंने मुख्यमंत्री को आमंत्रित किया। इस पर मुख्यमंत्री ने पार्टी कार्यालय में जाने से पहले पंजाब भवन में सभी पार्टी नेताओं और विधायकों को चाय के लिए निमंत्रण के साथ जवाब दिया।