कानपुर (इंटरनेट डेस्क)। भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) की वेदर रिपोर्ट के मुताबिक, बृहस्पतिवार को केरल तट से टकराने के बाद दक्षिण पश्चिम मानसून अरब सागर के दक्षिण से केरल, कर्नाटक, रायलसीमा, पुद्दुचेरी, तमिलनाडु तथा बंगाल की खाड़ी के दक्षिण पश्चिम हिस्से की ओर बढ़ रहा है। मौसम विभाग ने बताया कि मानसून केरल में दो दिन की देरी से पहुंचा है। इसे 1 जून को पहुंच जाना था।

पूर्वोत्तर में भारी बारिश के आसार

भारतीय मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमानों में बताया है कि दक्षिण पश्चिम हवाओं के तेज गति से चलने की वजह से पूर्वोत्तर में अगले 5 दिनों तक भारी बारिश के आसार बन रहे हैं। पूर्वोत्तर के राज्यों अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम तथा त्रिपुरा में कुछ स्थानों पर कहीं-कहीं भारी बारिश हो सकती है।

पश्चिमोत्तर भारत में आंधी-पानी

आईएमडी ने अपनी वेदर रिपोर्ट में बताया है कि एक फ्रेश वेस्टर्न डिस्टर्बेंस बनता नजर आ रहा है। इसके असर से हिमालय के पश्चिम हिस्से तथा पश्चिमोत्तर भारत का मौसम प्रभावित हो सकता है। पूर्वानुमान है कि संबंधित इलाकों में आंधी-तूफान तथा गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ सकती हैं। इसके असर से केरल तथा कर्नाटक के इलाकों में भी गरज-चमक के साथ बरसात हो सकती है।