गूगल ने यौन उत्पीड़न के आरोप में अपने 48 कर्मचारियों को निकाला, 13 सीनियर मैनेजर भी शामिल
गूगल ने यौन उत्पीड़न के आरोप में अपने 48 कर्मचारियों को निकाला, 13 सीनियर मैनेजर भी शामिल

यह भी पढ़ें

नई दिल्ली (एएनआई)। भारत में कोरोना वायरस से बिगड़े हालातों को सुधारने के लिए गूगल ने भी मदद के लिए हाथ बढ़ाए हैं। गूगल और अल्फाबेट के सीईओ सुंदर पिचाई ने सोमवार को कहा है कि भारत में कोविड-19 मामलों को देखते हुए Google मेडिकल सप्लाई के लिए 135 करोड़ रुपये का रिलीफ फंड देगा। सुदंर पिचाई ने ट्वीट के जरिए बताया कि यूनिसेफ और गिवइंडिया को 135 करोड़ रुपये की राहत दी जाएगी। इससे मेडिकल सप्लाई करने के साथ-साथ हाई रिस्क वाली कम्युनिटी और मदद करने वाले संगठनों को मदद दी जाएगी। सुंदर पिचाई ने ट्वीट में एक ब्लॉग का लिंक भी शेयर किया जहां Google ने बिगड़े हालात से लड़ने के अपने प्रयासों में मदद करने के लिए विस्तृत तरीके बताए है।

बर्गर में Cheese को सही ढंग से लगाने के लिए गूगल सीईओ सारा काम छोड़ने को तैयार! अब लोग बियर लेकर लग गए उनके पीछे?
बर्गर में Cheese को सही ढंग से लगाने के लिए गूगल सीईओ सारा काम छोड़ने को तैयार! अब लोग बियर लेकर लग गए उनके पीछे?

यह भी पढ़ें

नई फंडिंग में 135 करोड़ रुपये की मदद शामिल
ब्लॉग पर, संजय गुप्ता, कंट्री हेड और वीपी, गूगल इंडिया ने लिखा, आज हम भारत के लिए नई फंडिंग में 135 करोड़ रुपये (18 मिलियन अमरीकी डालर) की घोषणा कर रहे हैं। फंडिंग में Google.org से दो ग्रेन शामिल हैं, जिनकी कुल कीमत 20 करोड़ रुपये है। पहला गिवइंडिया है जिसके तहत रोजमर्रा के खर्चों में मदद करने के लिए संकट से जूझ रहे परिवारों को नकद सहायता प्रदान करने का मिशन है। दूसरा यूनिसेफ में ऑक्सीजन और परीक्षण उपकरण सहित तत्काल चिकित्सा आपूर्ति प्राप्त करने में मदद करना है क्योंकि भारत में इसकी सबसे अधिक आवश्यकता है। उन्होंने यह भी बताया कि गूगल की ओर की जा रही इस फंडिंग में सार्वजनिक स्वास्थ्य सूचना अभियानों के लिए एड ग्रांट सपाेर्ट भी शामिल है।
गूगल अपने इन प्लेटफार्म से भी कर रहा मदद
Google पहले से ही अपने मुख्य सूचना उत्पादों जैसे सर्च और मैप, YouTube और विज्ञापन के साथ भारत की मदद कर रहा है। गूगल सर्च पर भारत में कोविड सुविधाओं से जुड़ी डिटेल अंग्रेजी और आठ भारतीय भाषाओं में उपलब्ध हैं। इसमें टेस्टिंग और कोरोना वारयस के खिलाफ वैक्सीनेशन कराने आदि के बारे में जानकारी शामिल है। उन्होंने कहा कि Google स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय और बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन जैसे संगठनों के साथ मिलकर टीके के प्रति जागरूकता की पहल का समर्थन करने में सहयोग कर रहा है। YouTube पर, Google वैक्सीन कम्युनिकेशन स्ट्रेटजी पर भारत सरकार का समर्थन कर रहा है।