बेंगलुरु (आईएएनएस)। कर्नाटक के चामराजनगर जिले के एक सरकारी अस्पताल में ऑक्सीजन की आपूर्ति बंद होने से कम से कम 23 मरीजों की मौत हो गई। अस्पताल में एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि सोमवार की दोपहर 12 बजे और 2 बजे के बीच ऑक्सीजन की आपूर्ति के स्तर में गिरावट के बाद मौतों की सूचना दी गई। यहां कम से कम 144 रोगियों का इलाज किया जा रहा है। मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा यहां जारी एक बयान में कहा गया है कि मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने इस घटना पर जिला कलेक्टर से बात की है और मंगलवार को एक आपातकालीन कैबिनेट बैठक बुलाई है।

मौतों के मामले में राज्य सरकार जांच कर रही

इस बीच गृह मंत्री बसवराज बोम्मई ने डीजीपी प्रवीण सूद से मामले की जांच करने और आगे की कार्रवाई के लिए एक व्यापक रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा है। चामराजनगर जिले के प्रभारी मंत्री एस सुरेश कुमार ने कहा कि ऑक्सीजन की कमी से होने वाली सभी मौतों के मामले में राज्य सरकार जांच कर रही है। बेंगलुरु से चामराजनगर रवाना होने से पहले उन्होंने कहा, मैं इस मामले का पता लगाने के लिए वहां जा रहा हूं। स्वास्थ्य मंत्री के सुधाकर भी स्थिति का जायजा लेने के लिए चामराजनगर से बेंगलुरु के लिए रवाना हुए। उन्होंने कहा कि ऐसी घटना के बारे में जानकर बहुत दुख होता है।

एडीसी के साथ एक कॉन्फ्रेंस कॉल की

मैसूरु के सांसद प्रताप सिम्हा ने कहा कल रात जब मीडिया के लोगों ने चामराजनगर जिले में ऑक्सीजन की कमी की स्थिति पर मेरा ध्यान आकर्षित किया, मैंने खुद डीसी रवि से संपर्क किया और एडीसी के साथ एक कॉन्फ्रेंस कॉल की, जो ऑक्सीजन के प्रभारी हैं। रात में ही मैंने दक्षिणी गैस से संपर्क किया और उन्होंने 15 सिलेंडर उपलब्ध कराए। इन सबके बावजूद यह दुखद घटना घटी। चामराजनगर कुछ दूर नहीं है। हमें लगता है कि यह हमारा एक हिस्सा है। महामारी की शुरुआत से जिले में कोविड-19 संक्रमण के कुल 11,928 मामले दर्ज किए गए हैं। रविवार तक 167 लोगों की मौत हो चुकी है।